यात्रा के दौरान दिल के दौरे के लक्षणों को अनदेखा न करें..


दिल की बीमारियाँ किसी भी उम्र के लोगो को हो सकती है , लोग इसके लिए कई इलाज भी करवाते जिससे की ये ठीक हो सके परन्तु क्या आपको पता है की दिल की जो बीमारी होती है जिसे हम Heart Attack भी कहते है , हमे लगता है की ये अचानक से हो जाती है परन्तु ऐसा नहीं इनके लक्षण हमे पहले से ही दिखने लगते है , अगर हम उन्हें पहचान जाते है तो हम बच जाते है और अगर उसे अनदेखा कर देते है , तो हम उसके शिकार बन जाते है , ये तो हुई एक बात आज इस पोस्ट में मैं जिस विषय के बारे में बात करने जा रहा हूँ वो यह की अगर आपको यात्रा के दौरान  दिल का दौरा पड़ने के लक्षण दिखाई देते  है तो आप उसे भूल कर भी अनदेखा ना करे, उसे कैसे पहचाने और उस वक़्त पर क्या कदम आप उठा सकते है उसी के बारे में मैंने बताया है। 


heart attack while traveling



लक्षणों को नजरअंदाज़ ना करे..

आपको कभी भी हार्ट अटैक के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, खासकर यात्रा के दौरान, क्योंकि अन्वेषण करने वालो  का कहना है कि हृदय रोग ( Cardiovascular diseases ) (सीवीडी), इस कदम पर लोगों के लिए मौत का कारण बन सकती है ।

स्पेन के मलागा में ( Acute Cardiovascular Care ) 2019 में प्रस्तुत किए गए अध्ययन से संकेत मिलता है कि यात्रा के दौरान दिल का दौरा पड़ने के बाद,  अगर किसी को शीघ्र उपचार मिल जाए तो इसके नतीजे लम्बे समय तक देखने को मिल सकते है।


यात्रा करते वक़्त इन बातो का रखे ख्याल ..

अगर आप यात्रा कर रहे हैं और हार्ट अटैक के लक्षणों का अनुभव करते हैं, जैसे कि छाती, गले, पीठ, पेट या कंधे में दर्द जो 15 मिनट से अधिक समय तक रहता है, तो बिना देर किए एम्बुलेंस को कॉल करें,"या अगर कही रस्ते में हॉस्पिटल दिखाई दे तो तुरंत वहाँ चले जाये।


heart attack while traveling



heart attack while traveling




भूल कर भी ना भूले इन बातो को ..

लंबी दूरी की यात्रा Dehydration , पैर में ऐंठन, Electrolyte Imbalance (असंतुलन), थकान, गति बीमारी और शिरापरक रक्त पूलिंग के कारण द्रव की शिथिलता जैसी स्थितियों को जन्म दे सकती है जो कि सीवीडी को रोक सकती है।

अध्ययन के लिए, शोधकर्ताओं ने 2,564 रोगियों को शामिल किया, जिन्हें दिल का दौरा पड़ा और 1999 और 2015 के बीच एक स्टेंट ( Percutaneous coronary intervention  or PCI ) के साथ तेजी से उपचार प्राप्त हुआ।

दिल का दौरा पड़ने के समय कुल 192 मरीज (7.5%) यात्रा करते पाए गए थे । अध्ययन में कहा गया है कि जो मरीज यात्रा कर रहे थे, वे युवा थे और उन्हें Stelevation myocardial infarction ( STEMI ) का अधिक प्रचलन था, जो एक गंभीर प्रकार का दिल का दौरा था जिसमें हृदय को रक्त की आपूर्ति करने वाली एक प्रमुख धमनी ठहर  जाती है।



heart attack while traveling



एक यात्रा के दौरान दिल के दौरे उम्र, लिंग, उच्च रक्तचाप और मधुमेह जैसे कई कारकों के समायोजन के बाद, निवासियों में होने वाले दीर्घकालिक मृत्यु के 42% कम जोखिम से जुड़े हुए थे।

"यह महत्वपूर्ण है कि जब आप तत्काल आपातकालीन चरण में हों और घर लौट रहे हो , तो अपने चिकित्सक से सलाह लें कि आप अपनी जीवनशैली में सुधार और संभावित रूप से निवारक दवा लेने से दूसरे हमले के जोखिमो  को कैसे कम कर सकते हैं.. 



अगर मेरी बताई गयी बातो से आपको कुछ जानकारी प्राप्त हुई , और इस पोस्ट को पढ़ कर आपको अच्छा लगा है  तो आप इस पोस्ट को जरूर शेयर करे और मेरे Home Page पे जाकर मेरे Blog को Follow करे।


share please,share this post


follow my blog,follow my blog post


धन्यवाद 
SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment

Featured Post

IPL 2019: सबसे ज्यादा रन बनाने से लेकर सबसे ज्यादा शतक बनाने तक ऐसे 3 रिकॉर्ड्स जो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के विराट कोहली तोड़ सकते हैं इस साल..

IPL 2019: कैश-रिच इंडियन प्रीमियर लीग का 12 वां संस्करण 23 मार्च से शुरू होने वाला है, जब गत चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स रॉयल चैलेंजर बैंगल...